स्वामी रामदेव लिखेंगे आत्मकथा

नई दिल्ली, 14 अक्तूबर (मैट्रो नेटवर्क)। योग गुरु से राजनीति तक बाबा रामदेव की यात्रा काफी दिलचस्प रही है। भारत ही नहीं विश्व में भी योग को प्रचारित प्रसारित करने के मामले में रामदेव प्रमुख चेहरा रहे हैं। यही नहीं बाबा रामदेव अपने पतंजलि उत्पादों के जरिए भारत में ‘स्वदेशी’ अभियान के अगुवा बनकर उभरे हैं। वैसे तो योग गुरु रामदेव के जीवन पर बहुत लोगों ने कुछ न कुछ लिखा है, लेकिन बाबा इंडिया टूडे मैगज़ीन के उप-संपादक उदय महूरकर के साथ मिलकर स्वयं अपनी आत्मकथा लिखने जा रहे हैं। इस बुक का नाम होगा ‘बीइंग बाबा रामदेव’, जो अगले साल प्रकाशित हो सकती है। बाबा रामदेव की आत्मकथा प्रोजेक्ट के बारे में बुक के पब्लिशर ‘पेंगुइन बुक्स इंडिया’ ने स्वयं खुलासा किया है। अपने आयुर्वेदिक ब्रांड ‘पतंजलि’ के उत्पादों से बाजार में भी धाक जमाने वाले रामदेव का विवादों से भी चोली दामन का साथ रहा है। चाहे वह 2011 में दिल्ली के रामलीला मैदान में भ्रष्टाचार के विरुद्ध धरने पर बैठना हो, पुलिस की गिरफ्तारी से बचने के लिए महिलाओं के वस्त्र पहनना हो या ‘भारत माता की जय’ न बोलने वालों का सर धड़ से अलग कर देने वाला बयान हो, रामदेव सुर्खियों में बने रहते हैं।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *