चर्च के अंदर की साजिश की आशंका

बिशप फ्रैंको पर नन के यौन शोषण के आरोपों का मामला

जालन्धर, (मैट्रो ब्यूरो)। केरल प्रांत से एक नन के 13 बार यौन शोषण किए जाने के आरोपों से घिरे यहां के डायोसिस चर्च के बिशप फ्रैंको मुलक्कम ने इस प्रकरण के पीछे चर्च के अंदर की साजिश होने की आशंका व्यक्त की है। इस मामले में यहां केरल पुलिस की स्पैशल इन्वैस्टीगेशन टीम के तीन दिन-रात चली जांच के बाद बिशप पहली बार मीडिया से रू-ब-रू हुए। एक पंजाबी न्यूज टी.वी. चैनल एबीपी (सांझा) के साथ खास इंटरव्यू में बिशप फ्रैंको ने आशंका व्यक्त की कि बिशप बनने की दौड़ में जो लोग शामिल थे, उनके विरुद्ध इस साजिश में वह अपने निजी स्वार्थों की वजह से शामिल हो सकते है। हालांकि बिशप ने यह भी कहा है कि उनके विरुद्ध यह एक सुनियोजित षड्यंत्र है और इसमें वह ताकतें भी शामिल है जो ईसाई धर्म की विरोधी है। उनका कहना है कि इसी वजह से षड्यंत्रकारियों ने इस केस की ग्राऊंड केरल में तैयार की हैं। फ्रैंको का कहना है कि वह उन्हें प्रभु और प्रशासन दोनों पर विश्वास है और वह इस मामले में बेदाग साबित होंगे। गौर हो कि फ्रैंको से केरल सिट ने 9 घंटे तक लम्बी पूछताछ की थी और यह कहकर वापस लौटी थी कि जरूरत हुई तो वह फिर लौटेगी या फिर बिशप को केरल तलब करेगी। हालांकि इंटरव्यू में बिशप ने कहा कि जांच टीम ने उनेस ऐसा कुछ नहीं कहा और इस मामले में जो बयान उन्होंने दिया उसे सिट ने कलमबद्ध कर लिया। हालांकि इस इंटरव्यू में बिशप फ्रैंको स्पष्ट रूप से कूटनीति का इस्तेमाल करते हुए दिखाई दिए और कई बार उनके जवाब आपस में ही करते हुए दिखाई दिए। बिशप ने पहले कहा कि उन्होंने अग्रिम जमानत इसलिए नहीं मांगी उन्हें इसकी हिदायत प्रभु से प्राप्त हुई थी लेकिन बाद मतें कहा कि जांच के बाद के परिणामों पर यदि जरूरत हुई तो वह अपने वकीलों की सलाह लेंगे। इंटरव्यू में बिशप ने साफ कहा कि इस केस के लिए आरोपी के कहे गए कथन और तथाकथित अपराध के लम्बे समयांतर के बाद आरोप लगाये जाने स्पष्ट करते है कि यह सच्चाई से कोसों दूर है और उनके विरुद्ध यह एक सुनियोजित षड्यंत्र है। जो आरोपी की उसके विरुद्ध हुई एक्शन की जवाबी प्रतिक्रिया से प्रेरित था अवसर का लाभ उठाने की फिराक जैसा है। बिशप ने इस साक्षात्कार में कहा कि आरोपी नन के विरुद्ध उन्होंने मदर जनरल ने एक मामले में तय प्रक्रिया के अनुसार जांच करके परिणाम उनको बताने के लिए कहा था। इसलिए षड्यंत्रकारियों ने अपने लक्ष्य की पूर्ति के लिए इस नन को हथियार बनाया है। बिशप का कहना है कि इस मामले पर वैटकिन सिटी की भी नजर है। उन्होंने कहा कि इस मामले की सच्चाई सामने आना किसी से भी अधिक उनके खुद के लिए सबसे पहले जरूरी है। उन्होंने कहा कि यदि जांच के बाद चुप्पी धारण होती है तो वह खुद भी यह कहेंगे कि सच्चाई सामने लाई जाए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *