एशियन गेम्स 2018 : जोड़ीदार नहीं मिलने से नाराज लिएंडर पेस टूर्नामेंट से हटे

नई दिल्ली, (मैट्रो नेटवर्क)। भारत के अनुभवी खिलाड़ी लिएंडर पेस डबल्स में ‘विशेषज्ञ’ जोड़ीदार नहीं मिलने के कारण एशियाई खेलों से हट गए हैं। पेस को जूझ रहे एकल खिलाड़ी सुमित नागल के साथ जोड़ी बनाने को कहा गया था क्योंकि अखिल भारतीय टेनिस संघ (एआईटीए) देश के शीर्ष युगल खिलाडिय़ों रोहन बोपन्ना और दिविज शरण की उनके आग्रह पर जोड़ी बनाने को सहमत हो गया था। पेस पहले ही टॉप योजना से बाहर किए जाने से नाराज थे लेकिन इस 45 वर्षीय खिलाड़ी ने खुद को एशियाई खेलों के लिए उपलब्ध रखा था जहां उन्होंने पांच गोल्ड सहित आठ पदक जीते।
पेस ने एक बयान में कहा कि बड़ी मायूसी के साथ मैं यह कह रहा हूं कि मैं इंडोनेशिया में आगामी एशियाई खेलों में नहीं खेलूंगा। उन्होंने कहा कि इतने हफ्तों पहले से लगातार आग्रह करने के बावजूद यह दुखद है कि हम एशियाई खेलों में दूसरी मजबूत युगल जोड़ी के लिए युगल विशेषज्ञ को टीम में शामिल नहीं कर पाए। दिविज और बोपन्ना के साथ खेलने का फैसला करने के बाद कप्तान जीशान अली के पास पेस की जोड़ी नागल या रामकुमार रामनाथन के साथ बनाने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।
पेस ने सवाल उठाया कि आखिर एआईटीए दो विशेषज्ञ युगल टीमें क्यों नहीं उतार सकता? उन्होंने कहा कि रामकुमार काफी अच्छे खिलाड़ी हैं और मैं उसके साथ डबल्स खेलना पसंद करता लेकिन यह ध्यान में रखते हुए कि उसके पास एकल में पदक जीतने का सुनहरा मौका है, यह उचित नहीं होगा कि मैं उसकी सर्वश्रेष्ठ स्पर्धा से उसका ध्यान भटकाऊं। पेस पिछले दो एशियाई खेलों से बाहर रहने के बाद इस बार इस प्रतियोगिता में वापसी करने वाले थे। पेस ने कहा कि हमारे युगल विशेषज्ञ श्रीराम बालाजी, विष्णु वर्धन, पूरव राजा और जीवन नेदुनचेझियान मौजूदा सत्र में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं और इनमें से एक एशियाई खेलों की टीम को मजबूत करने के लिए इसमें शामिल होने का हकदार था। पेस ने हालांकि कहा कि उनकी गैरमौजूदगी से भारत की संभावना पर प्रतिकूल असर नहीं पड़ेगा। उन्होंने कहा कि टीम की संभावनाओं पर असर पडऩे की जगह मुझे लगता है कि मेरी गैरमौजूदगी में बाकी खिलाडिय़ों को अधिक स्पर्धाएं खेलने में मदद मिलेगी, फिर चाहे यह युगल हो या मिश्रित युगल।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *