गुरदासपुर से अक्षय खन्ना को चुनाव मैदान में उतार सकती है भाजपा

चंडीगढ़, (मैट्रो नेटवर्क)। पंजाब में भाजपा अपने पुराने सहयोगी शिरोमणि अकाली दल (बादल) के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ रही है। भाजपा के एक नेता का कहना है कि पंजाब में अपने तीन उम्मीदवारों का नाम शार्टलिस्ट कर लिया है। ये सीटें अमृतसर, गुरदासपुर और होशियारपुर हैं। इन सीटों पर पैनल के पास कई नाम आए थे। हालांकि भाजपा इन उम्मीदवारों के नाम का ऐलान कुछ समय बाद करेगी।
भाजपा गुरदासपुर लोकसभा सीट पर कांग्रेस के मौजूदा सांसद सुनील जाखड़ के खिलाफ मजबूत उम्मीदवार उतारने की तैयारी कर रही है। इस सीट पर पार्टी बालीवुड अभिनेता और दिवंगत भाजपा नेता विनोद खन्ना की पत्नी कविता खन्ना या फिर उनके बेटे अक्षय खन्ना को टिकट देने पर विचार कर रही है। विनोद खन्ना चार बार गुरदासपुर सीट से सांसद रहे हैं। गुरदासपुर के लोगों के बीच विनोद खन्ना काफी लोकप्रिय रहे। फरवरी में गुरदासपुर रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी विनोद खन्ना के नाम का जिक्र व्यापक तौर पर किया था।
गौरतलब है कि साल 2017 में गुरदासपुर सीट पर विनोद खन्ना की मौत के बाद उपचुनाव हुए थे। इस चुनाव में भाजपा ने मुंबई के उद्योगपति स्वर्ण सिंह सलारिया को टिकट दिया था। इस चुनाव में कांग्रेस के दिग्गज नेता सुनील जाखड़ ने उन्हें हराकर कांग्रेस को लंबे समय बाद यह सीट दिलाई थी। भाजपा इस सीट पर दोबारा जीतने की रणनीति के तहत अक्षय खन्ना को लड़ा सकती है। इसकी संभावना इसलिए भी अधिक दिखती है क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी ने अपनी फरवरी की रैली में स्वर्ण सिंह सलारिया का नाम तक नहीं लिया था। हालांकि वो भी इस सीट से चुनाव लडऩा चाहते हैं।
गुरदासपुर के एक स्थानीय बीजेपी नेता ने कहाकि पार्टी को लगता है कि अक्षय खन्ना के चुनाव लडऩे से अगर कविता खन्ना को कोई आपत्ति नहीं होती तो अक्षय को बॉलीवुड से होने के फायदे के साथ-साथ अपने पिता की इस सीट से यादों का भी लाभ मिलेगा। ऐसी स्थिति में सुनील जाखड़ के लिए इस सीट पर मुकाबला कठिन हो जाएगा। वहीं इस सीट पर खन्ना परिवार से लडऩे के संकेत के बीच भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अश्विनी राय का नाम पर भी विचार किया जा रहा है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *