रेप पीडि़ता बच्ची को 10 लाख मुआवजे की मांग

चंडीगढ़ में वीरवार को 10 वर्ष की मासूम ने दिया था बेटी को जन्म

चंडीगढ़, (मैट्रो ब्यूरो)। सुप्रीम कोर्ट ने बलात्कार की शिकार 10 वर्षीय लडक़ी को 10 लाख रुपए मुआवजा देने के बारे में केंद्र सरकार और चंडीगढ़ प्रशासन से जवाब मांगा है। बच्ची ने बृहस्पतिवार को चंडीगढ़ में बेटी को जन्म दिया है। वरिष्ठ वकील इंदिरा जयसिंह ने शुक्रवार को न्यायमूर्ति मदन बी लोकुर और न्यायमूर्ति दीपक गुप्ता की पीठ के समक्ष पीडि़ता को 10 लाख रुपए मुआवजा देने की गुहार की। जिस पर पीठ ने चंडीगढ़ प्रशासन और विधिक सेवा प्राधिकरण को नोटिस जारी किया है। वरिष्ठ वकील ने सुप्रीम कोर्ट के वीरवार के उस आदेश का हवाला दिया जिसमें बिहार की एक बलात्कार पीडि़ता को 10 लाख रुपए मुआवजा दिया गया था। इस मामले पर अगली सुनवाई मंगलवार को होगी। गौरतलब है कि 28 जुलाई को शीर्ष अदालत ने बलात्कार की शिकार इस दस वर्षीय लडक़ी को गर्भपात की अनुमति देने से इंकार कर दिया था, क्योंकि उस समय तक उसका गर्भ 32 सप्ताह का हो गया था। सुनवाई के दौरान इंदिरा जयसिंह ने सीआरपीसी के प्रावधानों के तहत राज्य सरकारों की ओर से दिए जाने वाले मुआवजे से संबंधित स्कीम पर भी सवाल उठाया। उन्होंने कहा कि स्कीम के तहत बलात्कार मामले में चार्जशीट दायर होने के बाद ही पीडि़ता को मुआवजा देने का प्रावधान है। पीठ ने इस प्रावधान को बेकार बताते हुए इस पर परीक्षण करने का फैसला लिया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *