एफबीआई ने नीरजा भनोट के कातिलों की तस्वीर जारी की

वाशिंगटन, (मैट्रो नेटवर्क)। फेडरल ब्यूरो आप इनवेस्टीगेशन (एफबीआई) ने ‘हीरोइन ऑफ हाईजैक’ बनी नीरजा भनोट के कातिलों की फोटो जारी की है। हाईजैकर्स मोहम्मद हाफिज अल टर्की, जमाल सईद अब्दुल रहीम, मोहम्मद अब्दुल्ला खलिल हुसैन अर्याल और मोहम्मद अहमद अल मुन्नव्वर की तस्वीर जारी की गई है। ज्ञातव्य है कि गोलियों का निशाना बनी एयरहोस्टेस नीरजा ने अपनी जान पर खेलकर 360 लोगों को मरने से बचाया था।
मीडिया में खबरों के अनुसार इन तस्वीरों को साल 2000 में एफबीआई द्वारा प्राप्त एज-प्रोग्रेसन टेक्नोलॉजी और मूल तस्वीरों का उपयोग करके एफबीआई प्रयोगशाला द्वारा बनाया गया था। 5 सितम्बर 1986 के दिन जो हुआ उसने अमेरिका, पाकिस्तान और भारत की सुरक्षा व्यवस्था को कटघरे में खड़ा कर दिया। दो दिन बाद नीरजा का बर्थडे था। वो मुम्बई से अमेरिका जाने वाली पैन एम 73 फ्लाइट में सवार थीं लेकिन कराची पहुंचते ही यह फ्लाइट हाईजैक हो गई। जब विमान कराची पहुंचा तो आतंकी सिक्योरिटी की ड्रेस में एयरक्राफ्ट के अंदर घुसे। आतंकियों ने नीरजा को आदेश दिया कि वह सारे यात्रियों के पासपोर्ट कलेक्ट करे जिससे विमान में सवार यात्रियों के बारे में पता चल सके। एयरक्राफ्ट के अंदर घुसते ही आतंकियों ने फायरिंग शुरू कर दी और एयरक्राफ्ट को अपने कब्जे में ले लिया था। आतंकी इस फ्लाइट को इजरायल ले जाकर क्रैश करना चाहते थे। इस फ्लाइट में करीब 369 यात्री मौजूद थे।
नीरजा ने उस मुश्किल क्षण में ऐसी हिम्मत दिखाई जो शायद किसी आम व्यक्ति की सोच से भी परे होती है। इमरजेंसी दरवाजे से नीरजा ने लगभग सभी को बाहर निकाल दिया। 3 बच्चों को बाहर निकालते वक्त आतंकियों ने उन पर गोलियों की बौछार कर दी और उनकी मौत हो गई। उनकी शहादत पर भारत ही नहीं बल्कि अमेरिका और पाकिस्तान ने भी आंसू बहाए थे। यह देश की पहली ऐसी नागरिक थीं जिन्हें अशोक चक्र जैसे किसी सर्वोच्च सैनिक सम्मान से नवाजा गया था। पहली बार पाकिस्तान ने भी भारत की बेटी को ‘तमगा-ए-इंसानियत’ का सम्मान दिया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *