हरभजन सिंह भी डे-नाइट टेस्ट खेलने के पक्ष में

नई दिल्ली, (मैट्रो नेटवर्क)। बीसीसीआई ने भले ही डे-नाइट टेस्ट से खुद को दूर कर लिया है लेकिन अब उसके इस फैसले के आलोचकों में टीम इंडिया के फिरकी गेदबाज रहे हरभजन सिंह भी शामिल हो गए हैं। उनका कहना है कि मुझे नहीं पता कि वे डे-नाइट टेस्ट मैच क्यों नहीं खेलना चाहते हैं। यह दिलचस्प फॉर्मेट है और हमें इसे अपनाना चाहिए। मैं पूरी तरह से इसके पक्ष में हूं। उन्होंने कहाकि मुझे बताइये कि गुलाबी गेंद से खेलने को लेकर क्या आशंकाएं हैं? अगर आप खेलते हो तो आप सामंजस्य बिठा सकते हो। हो सकता है कि यह उतना मुश्किल न हो जितना माना जा रहा है।
वहीं सुप्रीम कोर्ट की बनाई प्रशासकों की समिति यानि सीओए प्रमुख विनोद राय ने भारतीय क्रिकेट टीम के आस्ट्रेलिया के आगामी दौरे पर गुलाबी गेंद से दिन-रात्रि के क्रिकेट नहीं खेलने के फैसले का समर्थन किया। राय ने इतिहासकर बोरिया मजूमदार की किताब विमोचन के मौके पर कहाकि इसमें क्या गलत है अगर हम सारे मैच जीतना चाहते हैं? जो भी टीम पिच पर उतरती है वो जीतना चाहती है। 30 साल पहले वे कहते थे कि भारत केवल ड्रा के लिये टेस्ट मैच खेलता है लेकिन अब वे ऐसा नहीं कहते।
बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी ने बोर्ड के फैसले का समर्थन किया। उन्होंने कहाकि जब तक भारतीय खिलाड़ी यह नहीं कहते कि वे दिन-रात्रि मैच खेलने के लिये तैयार हैं तब तक कोई दिन-रात्रि मैच नहीं होंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *