बेल मिलने पर भी 18 घंटे बाद छोड़ा, माफी नहीं मांगूंगी : प्रियंका शर्मा

कोलकाता, (मैट्रो नेटवर्क)। बीजेपी के युवा संयोजक और कार्यकर्ता प्रियंका शर्मा ने अलीपुर जेल से रिहा होने के बाद बीजेपी कार्यालय में प्रेस कांफ्रेंस को सम्बोधित किया। उन्हें पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर मीम्स बनाने और सोशल मीडिया पर शेयर करने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया था। प्रियंका ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मुझे कल ही जमानत मिल गई लेकिन मुझे फिर भी 18 घंटे के बाद रिहा किया गया। वे लोग मेरे वकील से और मेरे परिवार से मिलने से भी मुझे मना कर रहे थे। उन्होंने मुझसे एक माफीनामा पत्र पर भी हस्ताक्षर करवाया। प्रियंका ने आगे कहा कि मैं इस मामले को आगे तक लड़ूंगी, मैं माफी नहीं मांगूंगी।
आपको बता दें कि प्रियंका शर्मा को ममता बनर्जी पर मीम्स बनाकर सोशल मीडिया पर शेयर करने पर गिरफ्तार किया गया था। इस मामले पर प्रिंयंका की मां से भी बात की गई तो उन्होंने कहा कि हमें अपनी बेटी से मिलने नहीं दिया गया। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मीम्स मामले में बीजेपी यूथ विंग की संयोजक प्रियंका शर्मा को जेल भेज दिया गया था। इसके बाद उनके वकील ने सुप्रीम कोर्ट में अपील कर दी थी और टीएमसी पर आरोप लगाया था कि प्रियंका को अभी तक रिहा नहीं किया गया है। शर्मा को रिहा करने में देरी को लेकर सुप्रीम कोर्ट ने पश्चिम बंगाल सरकार की निंदा की। कोर्ट ने कहा कि अगर उसे रिलीज नहीं किया जाता है तो अवमानना नोटिस भेजा जाएगा।
भाजपा युवा मोर्चा की नेता प्रियंका शर्मा ने फेसबुक पर एक ऐसी फोटो कथित रूप से साझा की थी जिसमें न्यूयार्क में मेट गाला समारोह के दौरान ली गई प्रियंका चोपड़ा की तस्वीर पर फोटोशॉप के जरिए ममता बनर्जी का चेहरा लगाया गया था। टीएमसी के नेता विभास हाजरा की शिकायत पर प्रियंका शर्मा को पश्चिम बंगाल पुलिस ने 10 मई को गिरफ्तार किया था। हावड़ा की स्थानीय अदालत ने प्रियंका को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया था। इसके बाद प्रियंका की वकील की तरफ से अपील किए जाने के बाद कोर्ट ने कहा था कि वह उसकी तत्काल रिहाई का आदेश दे सकती है लेकिन उसे इस पोस्ट को साझा करने के लिये माफी मांगनी होगी। पीठ ने कहा कि हमने साझा की गई तस्वीर देखी है और यदि इससे कोई आहत होता है तो आपको क्षमा मांगनी चाहिए।

You May Also Like