गत चार वर्षों में अल्पसंख्यकों की हालत में अभूतपूर्व सुधार हुआ : मनजीत राय

जालन्धर, (मैट्रो ब्यूरो)। राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य मनजीत सिंह राय ने सोमवार को यहां अल्पसंख्यकों के लिए केन्द्र सरकार द्वारा उपलब्ध स्कीमों की समीक्षा स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों से की। हालांकि इस दौरान डिप्टी कमिश्नर और पुलिस कमिश्नर दोनों ही नकोदर में मुख्यमंत्री पंजाब अमरेन्द्र सिंह की कल 14 मार्च को होने जा रही प्रस्तावित रैली की तैयारियों की वजह से नहीं आए। बैठक में राय ने प्रशासनिक अधिकारियों पर तब सख्ती प्रकट की, जब अधिकतर अधिकारियों के बारे में यह सामने आया कि उन्हें ऐसी योजनाओं की सम्पूर्ण जानकारी नहीं है। मनजीत राय ने कहा कि सभी अधिकारी इस मामले में पूर्णत: सजग रहें और अल्पसंख्यकों के प्रति उपलब्ध केन्द्रीय योजनाओं को उन तक पहुंचाएं। इससे पहले उन्होंने सामाजिक प्रतिनिधियों से मिलकर भी यह जानकारी ली कि क्षेत्र में अल्पसंख्यकों की सुरक्षा और उनके अधिकारों की सुरक्षा की क्या स्थिति है। राय से मिलने वाले ऐसे प्रतिनिधियों में पंजाब राज्य अनुसूचित जाति आयोग के पूर्व चेयरमैन राजेश वाघा, राकेश शांतिदूत, अजय जोशी, वसीम रजा गुड्डू, शाहीना प्रवीन, जुनैद, मनजीत बाली, प्रद्युमन सिंह ठुकराल, राष्ट्रीय सिख संगत के संरक्षक अमरजीत सिंह अमरी आदि उपस्थित थे।

इस अवसर पर खालसा नौजवान सभा, रामामंडी जालन्धर ने मनजीत सिंह राय को सिरोपा भेंट करके सम्मानित भी किया। बाद में अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य मनजीत सिंह राय यहां एक निजी कार्यक्रम के तहत निर्मल कुटिया गुरुद्वारा में भी गए और उन्होंने वहां के गद्दीनसीन संत गुरविन्दरपाल सिंह से वार्ता की। इस अवसर पर विशेष रूप से पहुंचे श्री अकाल तख्त साहिब की जत्थेदार ज्ञानी गुरबचन सिंह से भी उन्होंने अल्पसंख्यक मामलों पर चर्चा की। गौरतलब है कि मनजीत सिंह राय आयोग में सिख अल्पसंख्यक समुदाय के प्रतिनिधि के रूप में नियुक्त किए गए हैं। इससे पहले एक संवाददाता सम्मेलन में मनजीत सिंह राय ने कहा कि पिछले 4 सालों में भारत के भीतर अल्पसंख्यकों की सुरक्षा के मामले में अभूतपूर्व सुधार दिखाई दिया है। विशेष रूप से पूर्वोत्तर राज्यों में यह सुधार हुआ है। संवाददाताओं द्वारा हाल ही में इंग्लैंड के एक रेस्तरां से एक सिख को सिर्फ इसलिए बाहर निकाल देने की उसने सिर पर दस्तार बांधी थी, पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में वह विदेश मंत्रालय को लिखने वाले हैं कि इस विषय को इंग्लैंड के राजदूत के समक्ष रखा जाए और वांछित कार्रवाई की जाए। श्री मनजीत राय के एकदिवसीय जालन्धर दौरे के दौरान उन्हें विभिन्न अल्पसंख्यक समूहों ने सुस्वागतम कहा।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *