इमरान खान ने लोगों से 30 जून तक अपनी अघोषित संपत्तियों का खुलासा करने को कहा

इस्लामाबाद, (मैट्रो नेटवर्क)। प्रधानमंत्री इमरान खान ने पाकिस्तान के लोगों से कर माफी योजना का लाभ उठाने और 30 जून तक अपनी अघोषित संपत्तियों का खुलासा करने को कहा है। प्रधानमंत्री ने लोगों से कहा है कि वे अपनी बेहिसाबी संपत्ति की घोषणा कर देश के विकास में योगदान करें जो गंभीर वित्तीय संकट से जूझ रहा है। वित्त वर्ष 2019-20 के बजट से पहले राष्ट्र को संबोधित करते हुए खान ने कहा कि यदि हमें महान देश बनना है तो हमें खुद को बदलना होगा।

खान ने कहा कि मैं आप सभी से अपील करता हूं कि हम जो आय घोषणा योजना लाए हैं आप उसका हिस्सा बनें। यदि हम कर भुगतान नहीं करेंगे तो अपने देश को आगे नहीं बढ़ा पाएंगे। प्रधानमंत्री ने कहा कि लोगों के पास अपनी बेनामी संपत्ति, बेनामी बैंक खातें तथा विदेशों में रखे धन की घोषणा करने के लिए 30 जून तक का समय है। खान ने कहा कि 30 जून के बाद आपको इसके लिए और मौका नहीं मिलेगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि हमारी एजेंसियों के पास बेनामी खातों तथा बेनामी संपत्तियों की पूरी सूचना है। उन्होंने कहा कि मेरे पाकिस्तान के लोगों पिछले दस साल में पाकिस्तान का कर्ज 6,000 अरब रुपये से बढ़कर 30,000 अरब रुपये हो गया है। इमरान खान ने कहा कि टैक्स के रूप में उनका देश जो 4 हजार अरब रुपए इकट्ठा करता है उसमें से आधा यानि लगभग 2 हजार अरब रुपए कर्ज की किश्त देने में चला जाता है और जो 2 हजार अरब रुपए बचता है उससे देश नहीं चलाया जा सकता। इमरान खान पाकिस्तानियों से कहा कि वे इमानदारी से टैक्स चुकाएं।  उन्होंने कहा कि यह योजना उनके पास पहले उपलब्ध नहीं थी। इसलिए इसका लाभ उठाएं। पाकिस्तान को लाभ दें और अपने बच्चों का भविष्य सुरक्षित करें। उन्हें एक मौका दें कि वे इस देश को खुद के पैरों पर खड़ा कर सकें और यहां के लोगों को गरीबी से बाहर निकाल सकें।

You May Also Like