फिर गर्म हवाओं का निशाना बन सकता है भारत, 2015 में हुई थीं 2500 मौत : रिपोर्ट

नई दिल्ली, (मैट्रो नेटवर्क)। जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर भारत के लिए बड़ी चेतावनी जारी हुई है। टीओआई के मुताबिक इसमें बताया गया है कि अगर दुनिया का तापमान 2 डिग्री बढ़ता है तो भारत को भी गर्म हवाओं का सामना करना पड़ेगा। यह हवाएं साल 2015 की तरह जानलेवा हो सकती हैं। उस समय इस आपदा में 2500 लोग मारे गए थे।
आईपीसीसी यह रिपोर्ट आज जारी करेगी। वहीं अगर यूके की कार्बोनब्रिफ की स्टडी की ओर देखें तो उसमें कहा गया है कि भारत के चार बड़े शहरों का औसत तापमान पिछले 147 सालों में बढ़ा है। ये चार शहर दिल्ली, मुम्बई, चेन्नई और कोलकाता हैं।
रिपोर्ट के मुताबिक औसत तापमान में 2030 तक 1.5 डिग्री की बढ़ोतरी हो सकती है और अगर ऐसा हुआ तो ग्लोबल वार्मिंग में 2030 से 2052 के बीच 1.5 डिग्री सेल्सियस की बढ़ोतरी हो सकती है। अगर रिपोर्ट की मानें तो भारत में कोलकाता और पाकिस्तान में कराची पर गर्म हवाओं का सबसे ज्यादा असर पड़ेगा। यानि भारत और पाकिस्तान को गर्म हवाओं से अपने नागरिकों की सुरक्षा के लिए जरूरी कदम उठाने पड़ेंगे। जलवायु में परिवर्तन की वजह से खाने-पीने की चीजें महंगी होंगी और आमदनी पर भी असर पड़ेगा। लोग ज्यादा बीमार पड़ेंगे।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *