नशीली दवाओं का रिकार्ड न मिलने पर न्यायिक अधिकारी के पिता गिरफ्तार

सेहत विभाग व पुलिस ने मारा छापा, एन.डी.पी.एस. एक्ट के तहत केस दर्ज

जालन्धर, (मैट्रो नेटवर्क)। सेहत विभाग और थाना बस्ती बावा खेल की पुलिस ने वीरवार को अवैध रूप से रखी हजारों नशीली दवाओं के साथ एक न्यायिक अधिकारी के पिता प्रेमनाथ दवाओं के होलसेल का काम करते हैं। उनके पास से इन नशीली दवाओं को कोई रिकार्ड नहीं मिला है। पुलिस ने मैडीकल शॉप को सील बंद कर एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है। एसीपी वेस्ट सर्बजीत राय का कहना है कि तीनों आरोपियों को शुक्रवार को अदालत में पेश किया जाएगा। एसीपी वेस्ट सरबजीत राय, जोनल लाइसेंसिंग अथारिटी करुण सचदेव, ड्रग इंस्पैक्टर अनुपमा कालिया, डीलिंग सहायक दिनेश कुमार की स्युक्त टीम ने मिठठु बस्ती स्थित शर्मा मैडीकल हाल पर छापा मारा। करुण सचदेव ने बताया कि छापे के दौरान टीम ने दुकान के रिकार्ड को चैक किया। वहां से गोलियां एवं कैप्सूल बरामद किए जिस बारे में दुकानदार रिकार्ड पेश नहीं कर सका। पुलिस ने यहां से तरुण कालिया को गिरफ्तार कर लिया। इसके बाद टीम ने बस्ती गुजां में स्थित होलसेल सप्लायर की दुकान पर छापेमारी की जहां से 2695 नशीली गोलियां, 336 कैप्सूल, 95 इंजैक्शन सहित कई प्रतिबंधित दवाएं बरामद की जो अवैध ढंग से स्टोर की गई थी। पुलिस ने यहां से होलसेल सप्लायर नवरत्न कालिया को गिरफ्तार कर लिया। इन दोनों से जब पूछताछ हुई तो खुलासा हुआ कि नशीली दवाएं दिलकुशा मार्किट से मित्तू मैडीकल से सप्लाई की जाती थी। उनके पास दवाओं के होलसेल का लाइसैंस है। पुलिस और सेहत विभाग की टीम ने मित्तू मैडीकल पर छापेमारी की तो वहां से 3850 प्रतिबंधित गोलियां मिलीं। मौके पर ड्रग इंस्पैक्टर ने रिकार्ड चेक किया लेकिन नहीं मिला। जिस पर पुलिस ने इसके मालिक प्रेमनाथ को गिरफ्तार कर लिया। वे एक न्यायिक अधिकारी के पिता है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *