नेताओं ने पार्टी से ऊपर अपने हितों की रक्षा की

पार्टी कार्यकर्ताओं की अपेक्षा अपने करीबियों या बाहरी पार्टियों से दलबदल कर आये व्यक्तियों को टिकट दिए

जालन्धर, (विशेष संवाददाता)। नगर निगम चुनाव के लिए प्रत्याशियों के चयन में भाजपा-अकाली दल गठबंधन और कांग्रेस के टिकट पर चुनाव जीते विधायक और पराजित गठबंधन प्रत्याशियों ने अपने भविष्य की रणनीति को पार्टी विस्तार और हितों से ऊपर रखा है। इस रणनीति के तहत इन लोगों ने पार्टी कार्यकर्ताओं की अपेक्षा अपने करीबियों या बाहरी पार्टियों से दलबदल कर आये व्यक्तियों को टिकट दिए है। सूत्रों से प्राप्त जानकारी के अनुसार यह रणनीति सिर्फ अकाली-भाजपा गठबंधन के भीतर सीटों के अलट-पलट के माध्यम से ही नहीं हुई अपितु भाजपा-कांग्रेस या अकाली दल-कांग्रेस के बीच गुप्त रूप से भी हुई है। सूत्र बताते है कि जालन्धर केन्द्रीय निर्वाचन क्षेत्र के अंतर्गत आते एक वार्ड से अकाली दल के एक शक्तिशाली व्यक्ति का टिकट काट कर वर्षों से भाजपा के वर्चस्व वाली सीट जो पिछली बार भाजपा के एक शक्तिशाली नेता ने अपनी इसी रणनीति के तहत कांग्रेस पृष्ठभूमि की महिला को टिकट देकर जीती थी, इस बार इस डील के तहत अकाली दल के लिए छोड़ दी गई। हालांकि टिकट न मिलने से निवर्तमान इस भाजपा पार्षद ने कांग्रेस में घर वापसी कर ली है और इनके पति देव भाजपा में ही डटे हुए है। सूत्रों की माने तो यह डील भाजपा के सशक्त और अकाली दल के बीच हुई है। हैरानीजनक है कि पूर्वकाल में इन दोनों में छत्तीस का आंकड़ा रहा है लेकिन अब दोनों ने अपने-अपने हितार्थ शेक हैड किया है। इस डील में भाजपा नेता ने विधानसभा चुनाव में उनका प्रचंड खुला विरोध करने वाले अकाली नेता के परिवार का अकाली दल से टिकट कटवा दिया है और अकाली नेता ने अकाली दल के पूर्व जिला प्रधान से विधानसभा चुनाव में उसे खुद को पहुंचे नुकसान का न केवल बदला ले लिया है अपितु अपने चहेते के लिए भाजपा के गढ़ क्षेत्र की सीट अकाली दल के खाते में डलवा ली है। पता चला है कि इस सीटों में कांग्रेस-अकाली दल और भाजपा त्रिकोण में कभी प्रबल विरोधी रहे नेता एकजुट हो गए है। इस एकुटता से न केवल उन्होंने अपने-अपने विरोधियों से खुन्नस निकाल ली है अपितु भविष्य की बिसात भी अपने हक में बिछाने की कोशिश की है। विस हलका वेस्ट, नार्थ और छावनी के भी इस स्थिति को विभिन्न पार्टियों में बगावत स्पष्ट प्रकट कर रही है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *