मॉब लिंचिंग : दादी की बरसी के लिए सामान खरीदने गए युवक की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या की

पटना, (मैट्रो नेटवर्क)। बिहार के सीतामढ़ी में अपनी दादी की बरसी के लिए सामान खरीदने जा रहे युवक की भीड़ ने पीट-पीटकर हत्या कर दी। मसलन बिहार में फिर एक मॉब लिंचिंग का मामला सामने आया है। इस मामले में पुलिस की बड़ी लापरवाही भी सामने आई है। फिलहाल पुलिस ने 150 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। दिल दहला देने वाली यह वारदात सीतामढ़ी की है। बिहार में सुशासन फिर सवालों के घेरे में आ गया। युवक की पहचान सहियारा थाना क्षेत्र के सिगंहरीया गांव निवासी रूपेश कुमार झा, पुत्र भूषण झा के रूप में हुई है। रूपेश के चाचा सुनील कुमार झा ने बताया कि कल उनकी मां की बरसी है। मृतक के चाचा ने बताया कि उनका भतीजा उसी के लिए सामान खरीदने अपने दोस्त के साथ सीतामढ़ी शहर जा रहा था तभी रास्ते में पिकअप वाले से साइड को लेकर उनका विवाद होने लगा। इसी बीच पिकअप चालक ने शोर मचाना शुरू कर दिया। देखते ही देखते वहां भीड़ जमा हो गई और एक युवक को पकड़ लिया। बिना कुछ सोचे समझे लोगों ने उस युवक यानि रूपेश को पीटना शुरू कर दिया। फिर लाठी डंडों से उसकी जमकर पिटाई कर दी। इस दौरान वो चीखता रहा और लोग पीटते रहे। यहां तक कि इस भीड़ में छोटे छोटे बच्चे भी दिख रहे थे।
दूसरी ओर परिजनों ने सुशासन पर सवाल उठाते हुए कहाकि वो घर के काम से सीतामढ़ी जा रहा था। ग्रामीणों ने पीट-पीटकर उसे गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। रीगा पुलिस ने मौके पर पहुंच कर युवक को इलाज के लिए सदर अस्पताल भेज दिया जहां उसकी गंभीर स्थिति देखकर परिजन उसे शहर के प्रसिद्ध चिकित्सक डाक्टर वरुण कुमार के क्लिनिक पर ले गए। डा. वरुण ने उसकी बेहद चिंताजनक स्थिति देखते उसे पीएमसीएच रेफर किया जहां देर रात तकरीबन 11 बजे उसकी मौत हो गई। वहीं ग्रामीणों के मुताबिक पिकअप में अवैध सामान ले जाया जा रहा था जिस कारण पिकअप चालक ने शोर मचाकर बेगुनाह युवक की हत्या करा दी।
वारदात के बाद शव का पोस्टमार्टम तक नहीं हो सका। परिजनों ने बताया कि पुलिस तब मौके पर पहुंची जब रुपेश के शव को मुखाग्नि दी जा चुकी थी। दूसरी तरफ पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज नहीं करने को लेकर परिजनों से एक पत्र भी लिखवा लिया लेकिन परिजनों ने कहा कि उन्हें इंसाफ चाहिए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *