सैफी मस्जिद से मोदी बोले-विकास के मिशन को आगे बढ़ा रहा है बोहरा समुदाय

इंदौर, (मैट्रो नेटवर्क)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शुक्रवार को इंदौर पहुंचे जहां दाऊदी बोहरा समुदाय के धर्मगुरु सैयदना मुफद्दल सैफुद्दीन से भेंट करने के बाद दाऊदी बोहरा मुस्लिम समुदाय के कार्यक्रम में शामिल हुए और सैफी मस्जिद में बोहरा समाज को सम्बोधित किया। प्रधानमंत्री के साथ मंच पर मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज भी मौजूद रहे। अपने सम्बोधन में प्रधानमंत्री ने बोहरा समाज की जमकर तारीफ की और सरकार की उपलब्धियों को भी जनता के बीच रखा। इंदौर की सैफी मस्जिद में प्रधानमंत्री मोदी ने अपने भाषण में कहाकि देश को कैसे जीना चाहिए, यह बोहरा समाज दिखाता है। उन्होंने कहाकि कदम-कदम पर बोहरा समाज ने मेरा साथ दिया है।
मोदी ने कहा कि मैं जब गुजरात रहा तो बोहरा समाज ने मेरा साथ दिया और यहां इस पवित्र मंच से भी मुझे इतना प्यार मिला है। उन्होंने कहा कि मेरा सौभाग्य है कि आप सभी का साथ और विश्वास मेरे साथ है। जन्मदिन के पहले ही आपने मुझे देशहित के लिए दुआएं दीं। मैंने कुपोषण के खिलाफ लड़ाई में बोहरा समाज से सहयोग मांगा था और बोहरा समाज और सय्यद सहाब ने मेरा पूरा साथ दिया। बोहरा समाज के साथ मेरा रिश्ता बहुत पुराना है। मैं एक प्रकार से इस समाज सदस्य बन गया हूं। आज भी मेरे दरवाजे आपके परिवारजनों के लिए खुले हैं। देश में पहली बार स्वास्थ सेवाओं पर इतना जोर दिया जा रहा है। आयुष्मान भारत का कार्यक्रम हम भारत में लागू करने जा रहे हैं। अमेरिका-यूरोप के कई देशों की जितनी जनसंख्या है उतने लोगों के लिए हम इस योजना को लागू करने जा रहे हैं।
उन्होंने अपने सम्बोधन में कहाकि मुझे बताया गया है कि तकनीक के माध्यम से हमारे समाज के लोग जुड़े हुए हैं, उनको भी नमन, इमाम हुसैन के पवित्र सन्देश को आपने अपने जीवन में उतारा है और देश दुनिया तक पैगाम पहुंचाया, इमाम हुसैन अमन और इंसाफ के लिए शहीद हो गए, अन्याय और अहंकार के लिए अपनी आवाज बुलंद की थी, आज भी यह अहम है, इन परम्पराओं को मुखरता के साथ प्रसारित करने की जरूरत है। प्रधानमंत्री ने कहाकि मुझे प्रसन्नता है कि बोहरा समाज इस मिशन में जुटा हुआ है। शांति, सद्भाव, सत्याग्रह और राष्ट्रभक्ति के प्रति बोहरा समाज की भूमिका हमेशा महत्वपूर्ण रही है। अपने देश से अपनी मातृभूमि के प्रति सीख अपने प्रवचनों से देते रहे हैं।
उन्होंने कहा कि महात्मा गांधी और सैयदना की मुलाकात ट्रेन में हुई और दोनों के बीच निरंतर संवाद होता रहा। दांडी यात्रा के दौरान महात्मा गांधी सैयदना साहब के घर सैफी विला में ठहरे थे। आजादी के बाद सैयदना साहब ने इस विला को देश को समर्पित कर दिया था। प्रधानमंत्री ने कहाकि चार साल पहले केवल 40 प्रतिशत घरों में ही शौचालय थे। हमारी माता-बहनों को काफी तकलीफ होती थी। इतने कम समय में यह संख्या 90 प्रतिशत तक पहुंच चुकी है। बहुत जल्द हमारा देश खुद को खुले में शौच से मुक्त कर देगा। इंदौर स्वच्छता आंदोलन का अगुवा है। मैं इंदौर के सभी नागरिकों को, यहां के प्रशासन को, यहां के मुख्यमंत्री को, उनकी टीम को हृदयपूर्ण अभिनंदन करता हूं।
जीएसटी का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री ने कहाकि सरकार ने पिछले चार वर्षों में ईमानदार व्यापारियों को प्रोत्साहित किया है। इसका फायदा बोहरा समुदाय भी उठा रहा है। इससे दुनियाभर के निवेशकों का विश्वास भारत में बढ़ा है। आज रिकॉर्ड स्तर पर निवेश हो रहा है। यही कारण है कि पिछली तिमाही में देश ने आठ फीसदी से ज्यादा की विकास दर हासिल की है। अब देश की नजर दहाई के विकास दर पर है।
बोहरा समाज के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब कोई प्रधानमंत्री वाअज में शामिल हुआ और बोहरा समाज को सम्बोधित किया। दाऊदी बोहरा समुदाय की ओर से इस कार्यक्रम का आयोजन हजरत इमाम हुसैन की शहादत के स्मरणोत्सव ‘अशरा मुबारका’ में किया गया।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *