श्री कृष्ण बांके बिहारी मंदिर में भजन संध्या का आयोजन

होशियारपुर, (मैट्रो सेवा)। दिव्य ज्योति जाग्रति संस्थान की ओर से श्री कृष्ण बांके बिहारी मंदिर जाट मोहल्ला में भजन संध्या का आयोजन किया गया। उपस्थित श्रद्धालुगणों को संबोधित करते हुए संस्थान की प्रवक्ता श्री आशुतोष महाराज जी की शिष्या साध्वी प्रीति भारती जी ने श्री कृष्ण की लीलाओं का वर्णन किया और कहा कि तनाव, चिड़चिडाहट, स्ट्रेस, घबराहट, बेचैनी दु:ख। ये सब विशेषण हो चुके हैं हमारे जीवन के। परिणाम स्वरूप इंसान जीवन को सिर्फ और सिर्फ एक कठिन परिक्षा मान लेता है। परन्तु हमारे वैदिक ऋषि मुनियों ने इस जीवन को सरल भी कहा और कठिन भी। कठिन तब है जब जीवन भागय और परिस्थितियों का मोहताज हो। सरल तब है जब हम अपनी जीवन कहानी खुद लिखते हैं। सन् 2008 में हावर्ड में एक अनोखा अनुसंधान किया गया। इसके अंतगर्त दो तरह के समूहों के जीन्स का विशलेषण हुआ। एक समूह जो काफ ी वर्षों से साधना करता रहा था। दूसरा समूह जिसने कभी साधना नहीं की थी। यह जैनेटिक विज्ञान के इतिहास में किया गया पहला अनुसंधान था जिसमें साधना से जेनेटिक स्तर के बदलाव का निरीक्षण किया गया था। कुछ सहभागी जिन्हें साधना को जीवन में उतारे ज्यादा समय नही हुआ था, उनमें भी सिर्फ 8 हफ्ते के ध्यान से जेनेटिक स्तर पर बदलाव आए। इन तथ्यों से पाया गया कि साधना की शक्ति इतनी प्रबल है कि वह साधक के सूक्ष्म जेनेटिक स्तर में भी बदलाव ला सकती है।
कार्यक्रम के दौरान राजिंदर बेरी , राम चंद बजाज, गुलशन अरोडा , गूलशन खेरा , सुनिल मदान , राकेश कोहली , विशाल डोगरा और अन्य विशष्टि अतिथि भी उपस्थित हुए।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *