प्रद्युम्न हत्याकांड : सीसीटीवी कैमरे में कैद है दिल दहलाने वाला मौत का मंजर

गुरुग्राम, (मैट्रो नेटवर्क)। गुरुग्राम के रायन इंटरनेशल स्कूल में 7 वर्षीय छात्र प्रद्युम्न की हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी एसआईटी टीम को सीसीटीवी फुटेज हाथ लगा है। इस सीसीटीवी फुटेज में खून से सना प्रद्युम्न फर्श पर रेंगता हुआ टॉयलेट के बाहर आता दिखाई दे रहा है। इस सीसीटीवी फुटेज में प्रद्युम्न की मौत का मंजर कैद है।
गौरतलब है कि प्रद्युम्न मर्डर केस की जांच एसआईटी कर रही है। एसआईटी ने रायन स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरों को कब्जे में लिया और उनकी जांच की। एक सीसीटीवी फुटेज में प्रद्युम्न की मौत का मंजर भी दिखा। सीसीटीवी फुटेज के अनुसार रायन इंटरनेशलन स्कूल की वह बस सुबह 7.60 पर स्कूल पहुंच गई थी जिसमें कंडक्टर अशोक कुमार मौजूद था। बस से उतरकर सभी बच्चे अपनी अपनी कक्षाओं की ओर चले जाते हैं। इसके बाद ड्राइवर बस को स्कूल परिसर के अंदर पार्क करता है और उसी समय कंडक्टर अशोक भी स्कूल के मेनगेट से अंदर दाखिल होता है। स्कूल में दाखिल होने के बाद कंडक्टर अशोक सीधे टॉयलेट की तरफ बढ़ जाता है। सीसीटीवी फुटेज के अनुसार प्रद्युम्न और उसकी बहन अपने पिता के साथ 7.55 पर स्कूल पहुंचे। पिता ने उनको मेनगेट पर छोड़ दिया और वापस घर चले गए। प्रद्युम्न स्कूल में आने के बाद टॉयलेट की तरफ चला गया जबकि उसकी बहन अपनी कक्षा की ओर चली गई। सीसीटीवी फुटेज में दिख रहा है कि पहले कंडक्टर अशोक टॉयलेट में दाखिल हुआ फिर उसके बाद प्रद्युम्न।
7.55 से 8.10 के बीच में अशोक बाथरूम से बाहर आता हुआ दिखाई दिया। 7.55 से 8.10 के बीच कोई तीसरा शख्स टॉयलेट में जाता हुआ नहीं दिखता। अशोक के टॉयलेट से बाहर चले जाने के कुछ पल बाद ही प्रद्युम्न एक हाथ से अपने गले को पकडक़र फर्श पर रेंगता हुआ बाहर की तरफ आता दिखाई देता है। प्रद्युम्न खून से सना हुआ था। इसके बाद वहां पहुंचने वाला पहला शख्स स्कूल माली होता है। वह प्रद्युम्न को खून से सना हुआ देखकर शोर मचाता है। शोर सुनकर कुछ टीचर कक्षा से निकलकर बाहर उस जगह पर आते हैं। इस हंगामे के बीच कंडक्टर अशोक दोबारा सीसीटीवी फुटेज में दिखाई देता है। वह प्रद्युम्न को उठाकर एक टीचर की कार में डालते हुए दिखाई देता है। इसके बाद कार से प्रद्युम्न को पास के अस्पताल ले जाते हैं लेकिन तब तक प्रद्युम्न की मौत हो जाती है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *