फगवाड़ा में बसेगी पंजाब की पहली अर्फोडेबल कालोनी

जालन्धर, (मैट्रो नेटवर्क)। लोगों को सस्ते दरों पर मकान मुहैया करवाने के लिए राज्य सरकार ने अर्फोडेबल कालोनी पॉलिसी बनाई है। पहली अर्फोडेबल कालोनी फगवाड़ा में बनेगी। जालन्धर विकास अथॉरिटी ने इसको बनाने के लिए एक प्रमोटर को लाइसैंस जारी किया है। यह कालोनी 10.16 एकड़ में कपूरथला जिले की तहसील फगवाड़ा में बनेगी। पॉलिसी के अधीन पूरे राज्य में कहीं भी अर्फोडेबल कालोनी बनाने के लिए लाइसैंस जारी किए जाएंगे। विभाग को लुधियाना में भी अर्फोडेबल कालोनी विकसित करने के लिए एक आवेदन आया है। अधिकारियों द्वारा कालोनी का ले आऊट प्लान मंजूर कर लिया गया है। साथ ही निश्चित समय में कालोनी विकसित करने के लिए लाइसैंस संबंधित विकास अथॉरिटी के स्तर पर दिया जाएगा। यह पॉलिसी नगर निगम की सीमा के बाहर राज्य में लागू होगी। अर्फोडेबल कालोनी बनाने के लिए मोहाली और न्यू चंडीगढ़ को छोडक़र सभी जगह एक समान नियम है। मोहाली और न्यू चंडीगढ़ में अर्फोडेबल कालोनी बनाने के लिए मास्टर प्लान के अनुसार नियम और शर्तों का पालन करना होगा, जबकि अर्फोडेबल कालोनी बनाने के लिए निर्धारित शर्तों के अनुसार कम से कम 5 एकड़ का क्षेत्र इकट्ठा होना चाहिए। इसके अलावा मास्टर प्लान की जोनिंग रेगुलेशन के अनुसार होनी चाहिए। अर्फोडेबल कालोनी में रहने वाले लोगों को ध्यान में रखकर सरकार ने तय किया है कि प्रमोटर को पंजाब अपार्टमैंट व प्रॉपर्टी रैगुलेशन एक्ट-1995 के तहत मास्टर प्लान के सारे उपबंधों को पूरा करना होगा।

मेगा प्रोजैक्टों के रिहायशी हिस्से भी शामिल
पॉलिसी सरकार की तरफ से मंजूर किए गए मेगा हाऊसिंग प्रोजैक्ट व इंडस्ट्रियल पार्क प्रोजैक्ट में इंटीग्रेटिड इंडस्ट्रियल मेगा पार्क प्रोजैक्ट के रिहायशी हिस्से को भी शामिल किया गया है। जहां पर प्रमोटर को पंजाब अपार्टमैंट एंड प्रापर्टी रैगुलेशन एक्ट (पापरा) 1995 के अधीन लाइसैंस में छूट दी गई है। इन प्रोजैक्ट को पापरा के अधीन किसी अलग लाइसैंस की जरूरत नहीं है। बशर्ते कोई प्लॉट बेचा या लीज पर न दिया गया तो, जो प्रमोटर अर्फोडेबल कालोनी बनाएंगे, उन्हें सरकार ने काफी राहत दी है। पहले जहां आमतौर पर 55 फीसदी कालोनी के हिस्से को बेचने की अनुमति होगी, लेकिन अर्फोडेबल कालोनी की कैटेगरी में 65 फीसदी हिस्सा बिक पाएगा। वहीं, प्रमोटरों को कालोनी के कुल क्षेत्र का 5 फीसदी हिस्सा ईडब्लूयूएस मकानों, प्लॉटों के लिए रखना पड़ेगा, जिसे उन्हें अपने स्तर पर बेचने की इजाजत होगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *