उत्तराखंड से हिमाचल तक चल रहे हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट का खुलासा

शिमला, (मैट्रो नेटवर्क)। हिमाचल की राजधानी के प्रतिष्ठित मॉल रोड में स्पा सेंटर में मसाज के बहाने चल रहे हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट में चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं। पुलिस तफ्तीश में सामने आया था कि इस स्पा सैंटर का मालिक उतराखंड का एक शख्स है और देश के अन्य राज्यों में भी उसके कई स्पा सैंटर हैं। उसने एक महीना पहले मॉल रोड के स्कैंडल प्वाइंट पर दो कमरों का एक सैट भारी-भरकम किराए पर लिया था और इसे मसाज स्पा सैंटर में तबदील किया गया। इसके बाद इसकी जबरदस्त पब्लिसिटी भी की गई। स्पा सैंटर के पोस्टर शहर में जगह-जगह चस्पा किए गए। हैरानी इस बात की है कि स्पा सेंटर चलाने के लिए स्थानीय प्रशासन से किसी तरह की अनुमति नहीं ली गई। स्पा सेंटर संचालित करने के लिए लाइसेंस होना जरूरी है। मगर ये औपचारिकताएं पूरी नहीं की गईं। मतलब साफ है कि जिश्मफारोशी के धंधे को अंजाम देने के लिए गैरकानूनी तरीके से बिना लाइसेंस के मसाज कम स्पा सेंटर खोल दिया गया। कम समय में मोटी कमाई करने के मकसद से इस स्पा सेंटर में सैक्स रैकेट चलाया जा रहा था।
पुलिस को जब इसकी भनक लगी तो एक योजनाबद्व तरीके से यहां दबिश दी और सैक्स रैकेट को बेनकाब किया। स्पा सेंटर में पकड़ी गई छह लड़कियों में एक थाईलैंड, तीन दिल्ली और दो मणिपुर की हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक पूछताछ में इन लड़कियों ने बताया कि इन्हें जबरन सैक्स रैकेट में धकेला गया है। अब तक की पड़ताल में पुलिस हिरासत में लिए गए स्पा सैंटर के संचालक सुरेश कुमार को मुख्य आरोपी मान रही है। सुरेश मुलत: मसूरी का रहने वाला है। इसके अलावा पुलिस ने इस स्पा सेंटर के एक कुक को भी हिरासत में लिया है। डीएसपी सिटी दिनेश शर्मा ने बताया कि इस स्पा सेंटर के मालिक आलोक को थाने में तलब किया गया है। वह भी उतराखंड का निवासी है और कई अन्य जगहों पर भी उसके स्पा सेंटर चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि मॉल रोड पर बिना लाइसेंस गैरकानूनी तरीके से स्पा सेंटर को संचालित किया जा रहा था और अब इसे सील कर दिया गया है।

You May Also Like