धान के बारह करोड़ के गबन का खुलासा

चंडीगढ़, (मैट्रो ब्यूरो)। अचानक चेकिंग के दौरान बारह करोड़ के धान के गबन का खुलासा हुआ है । इसके बाद फूड सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशू ने दो मिलरों के खिलाफ पर्चा दर्ज करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही पनसप के तीन मुलाजिमों को सस्पेंडकरने के आदेश भी जारी किए गए हैं। जिन पर ड्यूटी में लापरवाही बरतने का आरोप है। विभाग ने पनसप के फरीदकोट-मुक्तसर के जिला इंचार्ज अमृतपाल सिंह, पीडीसी फरीदकोट हंसा ङ्क्षसह और इंस्पेक्टर मलोट गुरदीप सिंह को सस्पेंड किया है। चेकिंग के दौरान एवरेस्ट राइस इंडस्ट्रीज फरीदकोट में धान का कम स्टॉक दिखाया गया। जोकि चावल के 96 वैगन के बराबर है, जिसकी कीमत 7.20 करोड़ बनती है। वहीं, अमाइरा फूड्स प्राइवेट लिमिटेड मुक्तसर में चावल के 63 वैगन के बराबर धान कम दिखाया गया जिसकी कीमत 4.72 करोड़ बनती है। विभागीय मंत्री आशू ने एवरेस्ट इंडस्ट्रीज के मालिक मलकीयत ङ्क्षसह और अमाइरा फूड्स के मालिक राजवीर सिंह व सतवीर शर्मा के खिलाफ परचा दर्ज करने के निर्देश दिए है। साथ ही विभाग ने बड़ा जुर्माना लगाने की कवायद शुरू करदी है। जीएम प्रोक्योरमेंट की अगुवाई में मुख्यालय की टीम द्वारा चेकिंग के दौरान यह अनियमितता सामने आई। नुकसान की भरपाई के लिए मिलरों के चेक क्लियरेंस के लिए बैंकों को दे दिए गए हैं। करीब आठ करोड़ की संपत्ति की निशानदेही कर रकम की वसूली की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। आशू ने कहा कि राष्ट्रीय संसाधनों में अनियमितता मिलने पर किसी को नहीं छोड़ा जाएगा। विभागीय मुलाजिमों द्वारा ड्यूटी में लापरवाही की सूरत में उन पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *