महामिलावटी लोगों के लिए राष्ट्र की सुरक्षा कोई मुद्दा नहीं है : पीएम मोदी

पालीगंज, (मैट्रो नेटवर्क)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को बिहार के पालीगंज में कांग्रेस और विपक्ष पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि अब तक के चुनाव से महामिलावटियों के सपने पर पानी फिर गया। उन्हें सिर्फ परिवार की चिंता है। नामदार या बिहार के भ्रष्ट परिवार को अगर गरीब की चिंता होती तो घोटाले करने से पहले इनके हाथ कांपते। सैकड़ों एकड़ जमीन हड़पने के बाद भी जमीन से कट गए, इनकी आंखें सिर्फ चोरी का माल पाने के लिए खुलती हैं।
पीएम मोदी ने कहाकि चौथे और पांचवें चरण के चुनाव के बाद सभी सर्वे वालों ने कह दिया है कि एनडीए की सरकार बन रही है। फिर क्यों मोदी सातवें चरण तक मेहनत कर रहा है? महामिलावटी दिल्ली में एक मजबूर सरकार बनाने का सपना पाले थे लेकिन अब उनकी उम्मीदों पर पानी फिर गया। उनके नकारात्मक प्रचार में दो ही मुद्दे हैं। एक मोदी की छवि खराब करो और दूसरा मोदी को हटाओ।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय सुरक्षा को चुनावी मुद्दा बनाने का विरोध करने को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा और कहा कि केवल आक्रामक रणनीति अपनाकर ही आतंकवाद का सफाया किया जा सकता है जैसा कि उनकी सरकार ने किया। मोदी ने कहाकि महामिलावटी कहते हैं कि राष्ट्रीय सुरक्षा कोई मुद्दा नहीं है। ऐसा कैसे हो सकता है जबकि आतंकवादी हमलों के कारण कितने आम लोगों की जान गई है?
प्रधानमंत्री मोदी ने बालाकोट हवाई हमलों का परोक्ष जिक्र करते हुए कहाकि हमने आतंकवादियों को जिस तरह घर में घुसकर मारा, उनका खात्मा होना ही था। मोदी ने पाटलिपुत्र लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र के तहत आने वाले पालीगंज में एक चुनावी रैली में कहाकि यह चुनाव के दौरान राज्य में मेरी आखिरी जनसभा है लेकिन मैं अपने नए कार्यकाल में मेरी विकास परियोजनाओं के साथ आपके बीच वापस आऊंगा। आपका प्यार देखकर मुझे अपनी जीत का भरोसा हो गया है लेकिन कृपया सुनिश्चित कीजिए कि आखिरी चरण में, जीत का अंतर बड़ा हो।
प्रधानमंत्री ने सैम पित्रोदा के ‘हुआ तो हुआ’ बयान को लेकर भी कांग्रेस की आलोचना की और कहा कि यह 1984 के सिख विरोधी दंगों को लेकर विपक्षी दल के ‘अहंकार’ को दर्शाता है। उन्होंने लालू प्रसाद के राजद का नाम लिए बगैर उस पर भी निशाना साधा और सत्ता हासिल करने के लिए जाति समर्थन का इस्तेमाल करने एवं कार्यकर्ताओं के योगदान को नजरअंदाज करके परिवार के लोगों को आगे बढ़ाने का आरोप लगाया। उन्होंने सत्ता में रहने के दौरान अपराधीकरण को कथित बढ़ावा देने और गरीबों के जीवनस्तर में सुधार के लिए नवोन्मेष करने में ‘नाकाम’ रहने को लेकर भी राजद की आलोचना की।
पटना के पालीगंज में पाटलिपुत्र और पटना साहिब लोकसभा क्षेत्र के राजग प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने महागठबंधन को ‘महामिलावटी’ बताते हुए कहा कि महामिलावटी घोर नकारात्मकता के साथ चुनाव लड़ रहे हैं। उन्होंने कहाकि इनके पास दो ही मुद्दे हैं, एक मोदी की छवि को खराब करना और दूसरा मोदी को हटाना। इन महामिलावटी लोगों को हालांकि इसका एहसास नहीं है कि मोदी आज यहां पर 120 करोड़ भारतीयों के आशीर्वाद से है।
प्रधानमंत्री ने राजद अध्यक्ष लालू प्रसाद पर निशाना साधते हुए कहाकि ये लोग अपनी जाति के दूसरे लोगों पर दबदबा बनाए रखने के लिए, जाति में जो अच्छे होनहार नौजवान थे, उन्हें भी दबंगई के रास्ते पर ले आए। नौजवानों को जाति के नाम पर भ्रमित करके, उनके कंधे पर बंदूक रखकर इन्होंने अपने ही समाज और जाति को बंधक बना लिया।
प्रधानमंत्री ने लोगों का उत्साहवर्धन करते हुए कहाकि मुझे तो जनता में ही जनार्दन दिखाई देता है, यही कारण है कि इस पद को मैं प्रसाद मानता हूं। मुझे प्रसाद की पवित्रता बनाए रखना संस्कार में मिला है। महामिलावटी लोग तो इसे भी लालची नजरों से देखते हैं। उन्होंने कहा कि 2022 तक किसान की आय दोगुनी करने का संकल्प लिया है, अन्नदाता को सौर ऊर्जा दाता बनाने का काम हाथ में लिया है। इसके लिए बीज से बाजार तक नई व्यवस्थाएं खड़ी की जा रही हैं। उन्होंने कहाकि बिहार के गांव-गांव की उम्मीदों को, सपनों को नई ऊंचाई देने के लिए, गरीब से गरीब तक तकनीक को हम कैसे पहुंचा रहे हैं, इसका उदाहरण है डिजीटल इंडिया अभियान। राजग सरकार की नीतियों के कारण आज दुनिया में सबसे सस्ता इंटरनेट भारत में है।

You May Also Like