कुछ लोगों को बाबा साहेब नहीं, बाबा भोले ज्यादा याद आ रहे हैं : मोदी

नई दिल्ली, (मैट्रो नेटवर्क)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज दिल्ली में ‘बीआर अंबेडकर इंटरनेशनल सेंटर’ का उद्घाटन किया। प्रधानमंत्री ने इस मौके पर कहा कि इस सरकार में योजनाओं में देरी को आपराधिक लापरवाही माना जाता है। इस सेंटर को बनाने का निर्णय 1992 में लिया गया था पर 23 साल तक कुछ नहीं हुआ। प्रधानमंत्री ने कहा कि जो राजनीतिक दल बाबा साहेब का नाम लेकर वोट मांगते हैं उन्हें तो शायद यह पता भी नहीं होगा। प्रधानमंत्री ने कहा कि खैर उन्हें आजकल बाबा साहेब नहीं, बाबा भोले जरा ज्यादा याद आ रहे हैं।
प्रधानमंत्री ने कहा कि नई पीढ़ी के लिए यह केंद्र वरदान की तरह आया है जहां पर आकर नई पीढ़ी बाबा साहेब के विजन को समझ सकेगी। उन्होंने कहा कि समय-समय पर हमारे देश में ऐसे महान लोगों का जन्म होता रहा है जो देश के विचार को गढ़ते हैं। प्रधानमंत्री ने कहा कि बाबा साहेब के जाने के बाद वर्षों तक उनके विचारों को दबाने की कोशिश हुई। राष्ट्र निर्माण में उनके योगदान को भुलाने की कोशिश हुई पर ऐसे लोग बाबा साहेब को जनमानस की भावना से हटा नहीं पाए। प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर मैं यह कहूं कि जिस परिवार के लिए यह सब कुछ किया गया उस परिवार से ज्यादा लोग आज बाबा साहेब से प्रभावित हैं तो यह गलत नहीं होगा।
मोदी ने कहा कि हमारी सरकार का यह प्रयास है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक बाबा साहेब के विचार पहुंचे। युवा पीढ़ी उनके बारे में जाने। प्रधानमंत्री ने कहा कि इस सरकार में बाबा साहेब के जीवन से जुड़े महत्वपूर्ण स्थलों को तीर्थ के रूप में विकसित किया जा रहा है। दिल्ली के अलीपुर में जिस घर में बाबा साहेब का निधन हुआ वहां डा. अंबेडकर स्मारक का निर्माण किया जा रहा है। नागपुर में दीक्षा भूमि को और विकसित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि पिछले साल वर्चुअल दुनिया में एक छठा तीर्थ भी निर्मित हुआ है। यह तीर्थ देश को डिजीटल तरीके से ऊर्जा दे रहा है। उन्होंने भीम एप को सरकार की ओर से बाबा साहेब को श्रद्धांजलि बताया। यह एप गरीबों, दलितों, शोषितों के लिए वरदान बनकर आया है। उन्होंने कहा कि बाबा साहेब का जीवन संघर्ष के साथ-साथ प्रेरणा से भी भरा हुआ है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *