ईरान में हिजाब पहनकर खेलने की बजाय सौम्या स्वामीनाथन ने चैम्पिनयशिप छोड़ी

नई दिल्ली, (मैट्रो नेटवर्क)। भारत की चेस प्लेयर सौम्या स्वामीनाथन ने अगले महीने ईरान में होने वाले चेस टूर्नामेंट से खुद को बाहर कर लिया है। सौम्या ने मुस्लिम देश ईरान में हिजाब पहनने की अनिवार्यता पर विरोध जताते हुए यह फैसला लिया है। फेसबुक पर पोस्ट करते हुए चेस स्टार सौम्या ने लिखा कि हिजाब पहने की जबरदस्ती उनके मानवाधिकारों के खिलाफ है। साथ ही सौम्या ने इसे अपनी आजादी और धर्म के अधिकार का भी हनन बताया।
यह चेस टूर्नामेंट ईरान में 26 जुलाई से 4 अगस्त के बीच होने वाला है। सौम्या ने अपनी फेसबुक पोस्ट पर लिखा, ‘मुझे जबरदस्ती हिजाब पहनने के लिए मजबूर नहीं किया जाना चाहिए। ऐसा करना मेरे मानवाधिकार का उल्लंघन है। इसके साथ ही मेरे बोलने, सोचने और धर्म को मानने के अधिकारों का भी उल्लंघन हो रहा है। अपने अधिकारों की रक्षा करने के लिए मुझे ईरान नहीं जाना चाहिए।’
सौम्या ने कहा कि ऑफिशियल चैम्पियनशिप का आयोजन करते हुए खिलाडिय़ों के अधिकारों का बहुत कम ध्यान रखा जाता है। सौम्या ने कहाकि मैं समझ सकती हूं कि आयोजक चाहते हैं कि खिलाड़ी किसी भी चैम्पियनशिप में अपने देश की औपचारिक यूनिफॉर्म के साथ ही देश का प्रतिनिधित्व करें लेकिन इस तरह से किसी धर्म से जुड़ी पोशाक को जबरदस्ती पहनाने का कोई नियम नहीं है। सौम्या ने बताया कि उन्हें इतने अहम टूर्नामेंट में हिस्सा न ले पाने का बहुत दुख है। उन्होंने कहा कि कुछ बातों के लिए कॉम्प्रोमाइज नहीं करना चाहिए।
ऐसा पहली बार नहीं है जब कोई महिला खिलाड़ी ईरान में होने वाले टूर्नामेंट से हिजाब पहनने की मजबूरी की वजह से बाहर निकली हो। इससे पहले भी 2016 में भारत की पिस्टल शूटर हिना सिंधू ने ईरान में होने वाले एशियन एयरगन शूटिंग चैम्पियनशिप से अपने आप को अलग कर लिया था।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *