सपा-बसपा महागठबंधन भाजपा को 2019 में सत्ता में आने से रोकेगा : मायावता

लखनऊ, (मैट्रो नेटवर्क)। बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) अध्यक्ष मायावती ने सोमवार को लखनऊ में एक बड़ी बैठक बुलाई। पहले मायावती बसपा विधायकों से मिलीं और फिर पार्टी बैठक में पहुंची। बताया जा रहा है कि यह बैठक बीस मिनट तक चली। उन्होंने पार्टी नेताओं को स्पष्ट संकेत दिए है कि भाजपा के खिलाफ सपा-बसपा का गठबंधन होकर रहेगा। उन्होंने इस गठबंधन को महागठबंधन करार दिया है। मायावती ने कहा है कि अब भाजपा के लोग बुरी तरह से बौखलाए और परेशान होकर घूम रहे हैं।
आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश उपचुनाव में जीत और राज्यसभा चुनाव में हार के बाद सबकी निगाहें 2019 में सपा-बसपा गठबंधन की संभावनाओं पर टिकी हुई हैं। मायावती ने कहा कि जो लोग बसपा-सपा के गठबंधन पर अलग-अलग टिप्पणियां कर रहे हैं उन्हें मैं बताना चाहती हूं कि यह गठबंधन व्यक्तिगत लाभ के लिए नहीं बल्कि जनता के कल्याण के लिए है। यह भाजपा की गलत नीतियों के खिलाफ है। हमारे गठबंधन का दिल से देश में स्वागत किया गया है। हमारे ऊपर भाजपा की बेकार की टिप्पणियों का कोई असर नहीं पड़ेगा। हम 2019 में भाजपा को केंद्र में आने से रोक देंगे।
मायावती ने कहा कि मोदी और उनकी पार्टी भाजपा ने साढ़े चार साल में अल्पसंख्यकों, पिछड़े वर्ग और दलित समुदाय के नाम पर बहुत नाटक किए हैं लेकिन अब न तो उन्हें और न ही उनकी पार्टी को इन नाटकों का कोई राजनीतिक लाभ मिलेगा। मायावती ने कहा कि देश की जनता परेशान है। इनके फैसलों खास कर नोटबंदी और जीएसटी के लागू किए जाने से गरीब और नौजवान बेरोजगार होकर घूम रहे हैं। इसी बात को गंभीरता से लेते हुए ही हमने देश और जनता के हित में आपसी तालमेल बनाने के लिए यह कदम आगे बढ़ाया है।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *