केन्द्र सरकार बताए कि नवम्बर से पहले कैसे पूरा होगा करतारपुर कॉरिडोर का काम : अमरिंदर सिंह

चंडीगढ़, (मैट्रो नेटवर्क)। करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर सवाल उठाए हैं। पंजाब के मुख्यमंत्री का आरोप है कि अब तक केंद्र सरकार ने जमीन अधिग्रहण के लिए फंड मुहैया नहीं कराया है, ऐसे में तय समय पर करतापुर कॉरिडोर का निर्माण नहीं हो पाएगा। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहाकि भारत सरकार ने वहां पर जमीन अधिग्रहण करने के लिए अब तक फंड को मंजूरी नहीं दी है। ऐसे में हम नवम्बर से पहले करतारपुर कॉरिडोर का काम कैसे पूरा कर पाएंगे?
आपको बता दें कि पिछले साल केंद्र सरकार ने भारत-पाकिस्तान सीमा पर स्थित करतारपुर साहिब के लिए कॉरिडोर के निर्माण को मंजूरी दी थी। वहीं पाकिस्तान की इमरान खान सरकार ने अपने इलाके में बनने वाले कॉरिडोर के शिलान्यास के कार्यक्रम में नवजोत सिंह सिद्धू को भी न्योता भेजा था। सिद्धू के इस दौरे को लेकर काफी विवाद खड़ा हुआ था।
22 नवम्बर 2018 को गुरु नानकदेव जी के 550वें प्रकाश पर्व से एक दिन पहले केंद्र सरकार ने करतारपुर कॉरिडोर की मंजूरी दी थी। सीमा की दूसरी और पाकिस्तान में सिखों का पवित्र करतारपुर साहिब गुरुद्वारा है। पाक द्वारा इजाजत न दिए जाने के कारण सिख समुदाय के लोग अभी दूरबीन से करतारपुर साहिब के दर्शन करते हैं। केंद्र सरकार ने कॉरिडोर पर होने वाले खर्च को पूरी तरह वहन करने की घोषणा की थी। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कॉरिडोर के निर्माण का ऐलान करते हुए कहा था, ‘गुरुनानक देवजी ने करतारपुर साहब में अपने जीवन के 18 साल लगाए। यह भारत की सीमा से कुछ किलोमीटर अंदर पड़ोस की सीमा में है। यहां हर साल हजारों श्रद्धालु आते हैं। भारत की सीमा पर खड़े होकर दर्शन की सुविधा है। कैबिनेट ने फैसला किया है कि डेरा बाबा नानक जो गुरुदासपुर में है, वहां से लेकर इंटरनेशनल बॉर्डर तक एक करतारपुर कॉरिडोर बनाया जाएगा।’ उन्होंने कहा कि यह वैसा ही होगा जैसे कोई बहुत बड़ा धार्मिक स्थल होता है। यहां पर वीजा और कस्टम की सुविधा मिलेगी। इसको व्यापक तरीके से करतार साहिब कॉरिडोर को बनाया जाएगा, यह 3 किलोमीटर का होगा। इसको भारत सरकार पूरी तरह से फंड करेगी।

You May Also Like

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *