कुंवारी युवती बनी मां, नवजात को जन्म देने के बाद अस्पताल से हुई फरार

पटियाला, (मैट्रो नेटवर्क)। काहनगढ़ रोड़ पर स्थित एक प्राइवेट अस्पताल में करीब 18 वर्षीय एक युवती एडमिट हुई जिसने पेट दर्द होने की शिकायत की थी। लेकिन युवती ने अस्पताल के शौचालय में एक बच्ची को जन्म दिया और उस नवजात को बोरे में बंद कर शौचालय के पीछे फेंक दिया। इसके बाद युवती अस्पताल से फरार हो गई। लोगों ने नवजात के रोने की आवाज सुनी और उसे बोरे से निकाला तथा अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती करवाया।
मीडिया में नशर हुई जानकारी के अनुसार युवती के साथ एक महिला और एक युवक भी था। वहीं अस्पताल में नवजात की हालत नाजुक बनी हुई है। अस्पताल के डाक्टर की शिकायत पर पुलिस ने युवती सहित तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया है। ऐसी भी सूचना है कि पुलिस ने आरोपी युवती के पिता को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त अस्पताल में एक महिला और एक युवक गर्भवती युवती को लेकर आए। महिला ने स्वयं को युवती की चाची बताया। उसने युवती के पेट में दर्द होने की शिकायत की। यूरिन सैंपल लेने के लिए लडक़ी और महिला शौचालय में गईं। काफी देर तक जब वे बाहर नहीं आईं तो अस्पताल के स्टाफ ने दरवाजा खटखटाया। जब महिला और उक्त युवती बाहर निकलीं तो उनके कपड़ों पर खून लगा देख अस्पताल के स्टाफ ने उन्हें इलाज करवाने के लिए कहा लेकिन वे तीनों लोग चकमा देकर वहां से फरार हो गए।
वहीं जब वहां कार्य कर रहे मजदूरों ने बच्चे के रोने की आवाज सुनी तो उन्होंने अस्पताल प्रबंधन को इसकी सूचना दी। जब बोरे को खोला गया तो उसमें नवजात शिशु था जिसे उपचार के लिए फौरन अस्पताल में दाखिल किया गया।

You May Also Like