महिला ने प्रपोजल ठुकराया तो गुस्से में 5 साल के बच्चे को मॉल की बालकनी से नीचे फेंक दिया

वाशिंगटन, (मैट्रो नेटवर्क)। अमेरिका के मिनीसोटा में एक दिल दहलाने वाली घटना सामने आई है। यहां पर एक व्यक्ति ने पांच वर्ष के बच्चे को सिर्फ इसलिए मॉल की बालकनी से नीचे फेंक दिया क्योंकि एक महिला ने उसे ठुकरा दिया था। बच्चा बुरी तरह से जख्मी है और अब अस्पताल में जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ रहा है। दोषी 24 वर्ष के इमैनुअल अरांडा मिनीपोलिस का रहने वाला है। मंगलवार को अरांडा ने मॉल ऑफ अमेरिका की बालकनी से पांच वर्ष के बच्चे को नीचे फेंकने की बात स्वीकार की है। अरांडा को तीन जून को सजा सुनाई जाएगी। माना जा रहा है कि उसे 19 वर्ष तक जेल में रहना पड़ेगा। हेनिनपिन काउंटी डिस्ट्रिक्ट कोर्ट में अरांडा के मामले की सुनवाई हुई है। डिस्ट्रिक्ट अटॉर्नी के ऑफिस के प्रवक्ता चुक लास्वेस्की ने बताया है कि अरांडा 19 वर्ष की सजा पर रजामंद है। अरांडा को फस्र्ट डिग्री मर्डर का दोषी पाया गया है। इसके लिए कम से कम 20 वर्ष की सजा दी जाती है।
अरांडा के वकील की ओर से इस पर कोई टिप्पणी नहीं की गई है। अरांडा को दो मिलियन डॉलर का बॉन्ड भी भरना पड़ेगा। अरांडा मानसिक बीमारी का शिकार रहा है और पूर्व में भी ऐसी घटनाओं में शामिल रहा है। उसे एक बार पहले भी गिरफ्तार किया जा चुका है। अरांडा ने कोर्ट में जाचंकर्ताओं के सामने यह बात स्वीकारी है कि उसने पांच वर्ष के बच्चे को 40 फीट यानि 12 मीटर की ऊंचाई से फेंका था। अरांडा इस घटना से पहले साल 2015 में दो बार इसी मॉल में दो बार लोगों पर हमला कर चुका है। एक बार तो उसे मॉल में एंट्री करने से ही बैन कर दिया गया था।
अरांडा कई वर्षों से मॉल जा रहा था और यहां पर वह एक महिला से बात करने की कोशिश कर रहा था लेकिन महिला ने उसे ठुकरा दिया। इस वजह से वह नाराज हो गया। अरांडा की मानें तो पहले उसने उस महिला की जान लेने की भी कोशिश की लेकिन बाद में उसने अपना इरादा बदल दिया और बच्चे को नीचे फेंक दिया। बच्चे की जान तो बच गई लेकिन उसके सिर में काफी चोट आई है और सिर के बल गिरने की वजह से उसका काफी खून भी बहा। साथ ही उसके हाथ और पैर में भी फ्रैक्चर है। बच्चे की हालत काफी गंभीर है और गो फंड कैंपेन पर अब तक एक मिलियन डॉलर से ज्यादा की रकम उसके लिए इलाज के लिए आ चुकी है। गोफंड पर ‘हेल्प फॉर लैंडेन’ इस नाम से एक कैंपेन चलाया जा रहा है। पिछले माह इस बच्चे की हालत कुछ सुधरी है। लैंडेन को फुटबॉल खेलना पसंद है। वह अपने भाई और बहन के साथ हॉकी भी खेलता है। गोफंड कैंपेन की ओर से इस समय 13 वर्ष की भारतीय मूल की धृति नारायण के लिए भी एक कैंपेन चलाया जा रहा है। धृति पिछले दिनों अमेरिका में हेट क्राइम का शिकार हुई हैं और अभी कोमा में हैं।

You May Also Like